सोनारी में विस्फोट,सेना की गाड़ी पर निशाना

शिवसागर

स्वतंत्रता दिवस से पूर्व आज एक बार फिर भयानक विस्फोट की घटना घटी| सोनारी के जलहा में सेना की गाड़ी को लक्ष्य बनाकर विस्फोट किया गया| हालांकि इस विस्फोट में सेना के जवानों की जान बाल-बाल बच गई| लेकिन विस्फोटस्थल पर 3 फीट गहरा गड्ढा बन गया| संदेह जताया गया है कि यह दूर संचालित आईईडी विस्फोट था|

स्वतंत्रता दिवस से पूर्व पूरे राज्य में हाई अलर्ट के बावजूद उग्रवादी एक के बाद एक हिंसक वारदातों को बेधड़क अंजाम दे रहे है| इससे पहले तिनसुकिया में उल्फा(आई) ने कुछ हिंदी भाषियों पर अंधाधुंध फायरिंग कर दो लोगों को मौत के घाट उतार दिया था जबकि कई लोग घायल हो गए थे| हालांकि इस फायरिंग की घटना के लिए लोग पुलिस प्रशासन को ही जिम्मेदार ठहरा रहे है चूँकि पुलिस को वारदात की आशंका थी और घटना से आधा घंटा पहले उन्होंने लोगों को सतर्क किया था, लेकिन वारदात को रोकने की कोई कोशिश नहीं की गई|

इधर वारदात में मारे गए एक ही परिवार के दोनों सदस्यों के शव को पोस्टमॉर्टेम के बाद लोगों ने तब तक स्वीकार करने से इनकार कर दिया था जब तक मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल वहां उपस्थित नहीं होते| हालांकि बाद में सार्वजनिक स्थान पर एक ही चिता में वारदात में मारे गए पिता-पुत्र के शव का अंतिम संस्कार कर दिया गया|

इससे पहले कोकराझाड़ में भी आतंकियों ने 14 बेक़सूर लोगों की जान ले ली थी| स्वतंत्रता दिवस में खून की होली खेलने की उग्रवादियों के मंसूबों को नाकाम करने के लिए पुलिस प्रशासन पूरी तरह सतर्क है| कल स्वतंत्रता दिवस के मद्देनजर राज्य में सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए है| लेकिन उसी बीच ऐसी विस्फोट की घटना दुर्भाग्यजनक है|


More from NE समाचार