नार्थ ईस्ट फैशन वीकेंड-फैशन शो के मंच से अंधेरी दुनिया में रौशनी लाने की पहल

गुवाहाटी

By Hasna Begum

फैशन की दुनिया जगमगाती रौशनी में डूबी हुई एक दुनिया है। रंग बिरंगी रौशनी में जगमगाते हुए खूबसूरत लिबास पहने एक से बढ़ कर एक मॉडल रैम्प पर अपना जलवा बिखेरती हैं तब हम और आप अपनी पलक झपकाए बिना उन्हें देखते रहते है। विज्ञान के अनुसार इस खूबसूरती को हम तब ही देख पाते हैं जब रौशनी की किरणें उन पर से हो कर हमारी आँखों तक पहुँचती हैं जो हमारी आँखों में उस की इमेज यानी छवी बनाती है I

लेकिन दुनिया में कुछ ऐसे लोग भी है जो इन खूबसूरती को देखने से महरूम है क्योंकी उन मॉडलों से हो कर रोशनी की किरणें उन के आँखों तक तो पहुँचती हैं लेकिन वहाँ छवी नहीं बन पाती है। फैशन शो के मंच से ऐसे लोगों की अंधेरी दुनिया में रोशनी लाने का पहल किया है नार्थ ईस्ट फैशन वीकेंड ने।

गुवाहाटी के शिल्पग्राम में चल रहे नॉर्थ ईस्ट फैशन वीकेंड ने अपने दूसरे चरण के फैशन शो में नेत्र दान को बढ़ावा देने के ” नेत्र दान ”  को इस साल का थीम बनाया है। फैशन शो के जरिये लोगो तक ये शंदेश  भेजना ही इस शो मूल लक्ष्य है कि नेत्र दान महान दान है और इसे किसी की अंधेरी दुनिया को रोशन किया जा सकता है। इस शो के आयोजक हर साल एक नया थीम लेकर शो करते है जिसमे देश, समाज और मानवता  छुपी होती है।

ये शो असम और उत्तर पूर्व का एक महत्पूर्ण फैशन शो है जिसके जरिये नए उभरते फैशन डिज़ाइनर, मॉडल और फैशन इंडस्ट्री के साथ जुड़े लोगो को अपनी प्रतिभा दिखाने के लिए एक मंच दिया जाता है। इस बार नार्थ ईस्ट फैशन वीकेंड में नए प्रतिभा के साथ साथ बंगलादेश के अंतरास्ट्रीय फैशन डिज़ाइनर बीबी रसेल ने भी अपना कलेक्शन शो किया। रसेल के सात बांग्लासेश के ही आज़म खान, भूटान के काबेनके, भारत के प्रसिद्ध डिज़ाइनर सुभागत दास और तेजस्य गांधी के डिजाईनर ड्रेस पहनकर मॉडल ने रैंप जलवा बिखेरा ।

ये शो असम और उत्तर पूर्व के प्रसिद्ध फैशन डिज़ाइनर प्रशांत घोष, दीपांकर कश्यप और संजय चौधरी  मिलकर करते हैं I इस शो के साथ कई बड़ी बड़ी हस्तियां भी जुड़ी हुई है। ये शो असम के फैशन इंडस्ट्री को आगे ले जाने के साथ साथ सामाजिक कार्य भी करता है।

 


More from NE समाचार