रिपब्लिक डे पर आईएसआईएस के फिदायीन बच्चे नरेंद्र मोदी को निशाना बना सकते हैं: खुफिया विभाग

नई दिल्ली

रिपब्लिक डे पर आईएसआईएस के फिदायीन बच्चों द्वारा नरेंद्र मोदी को निशाना बना सकता है. खुफिया विभाग की रिपोर्ट के मुताबिक इसके लिए आईएस 12 से 15 साल के बच्चे को फिदायीन के तौर पर इस्तेमाल कर सकता है. अपने इस मकसद को अंजाम तक पहुंचाने के लिए आईएसआईएस ने बाकायदा बच्चों की भर्ती भी कर ली है, ऐसी  जानकारी खुफिया एजेंसियों को मिली है. अंग्रेजी अखबार द टाइम्स ऑफ इंडिया ने अपनी रिपोर्ट में सूत्रों के हवाले से कहा है कि हथियारों और विस्फोटकों का इस्तेमाल करने में माहिर 12 से 15 साल के बच्चे देश में घुस चुके हैं.

मीडिया रिपोर्ट से मालूम पड़ा है की इंटेलिजेंस की रिपोर्ट के बाद शुक्रवार से SPG सहित सभी सुरक्षा एजेंसियां (NSG, IB, दिल्ली पुलिस) अलर्ट पर हैं. रिपोर्ट के हवाले से पता चला है की भयानक आतंकी संगठन ISIS पीएम मोदी पर फिदायीन हमला करने की साजिश रच रहा है. आईएस के इस सुसाइड स्क्वॉड में 2-3 बच्चे हो सकते हैं. इस काम को अंजाम देने के लिए 12 से 15 साल के बच्चों को वेपन्स और एक्सप्लोसिव की ट्रेनिंग देकर एक्सपर्ट किया जा रहा है.

मालूम हो की प्रधानमंत्री की सुरक्षा की जिम्मेदार एसपीजी की होती है. अब इस रिपोर्ट के बाद एसपीजी पीएम मोदी की सुरक्षा व्यवस्था को और चुस्त बनाने में लग गई है. आपको बता दे की वर्ष 2015 में लाल किले पर सुरक्षा घेरा तोड़ते हुए पीएम मोदी बच्चों के बीच उनसे मिलने चले गए थे लेकिन इस बार राष्ट्रिय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल और एसपीजी ने पीएम से अपील की है कि वे सुरक्षा घेरा नही तोड़े. साथ ही दिल्ली पुलिस को निर्देश दिया की वह संदिग्ध व्यक्तियों पर अपनी नज़रे जमाए रखे.


More from NE समाचार